loader image

Blog

Blog

काक चेष्टा, बको ध्यानं, स्वान निद्रा तथैव च।
अल्पहारी, गृहत्यागी, विद्यार्थी पंच लक्षणं।।

Adi Parva Chapter Four to Chapter Ten

Mahabharata Adi Parva Chapter Four to Chapter Ten

॥ श्रीहरिः ॥ श्रीगणेशाय नमः  ॥ श्रीवेदव्यासाय नमः ॥ श्रीमहाभारतम् आदिपर्व महाभारत आदि पर्व के इस पोस्ट में अध्याय 4 से अध्याय 10 (Adi Parva Chapter Four to Chapter Ten) दिया गया है। अध्याय चार को कथा प्रवेश कहते है। अध्याय पांच में भृगुके आश्रमपर पुलोमा दानव का आगमन और उसकी अग्निदेव के साथ बातचीत का वर्णन किया गया है,

Share
Read More »
Raghuvansham Chaturth Sarg

Raghuvansham Chaturth Sarg

रघुवंशम् महाकाव्य चतुर्थ सर्ग | Raghuvansham Chaturth Sarg रघुवंशम् महाकाव्य का चौथा सर्ग (Raghuvansham Chaturth Sarg ) महाराज रघु की उल्लेखनीय यात्रा और विजय को दर्शाता है। रघुवंशम् महाकाव्य चतुर्थ सर्ग में आपको महाराज रघु के विजयपूर्वक अनेक समुद्रादि देशों पर अभियान करने का वर्णन है। इसमें महाराज रघु की वीरता, न्यायपालन, धर्मपरायणता, और देवीयों के साथ सम्बन्ध का भी उल्लेख

Share
Read More »
Navdha Bhakti

Navdha Bhakti

Navdha Bhakti | नवधा भक्ति – भगवान से जुड़ने के नौ तरीके धर्मग्रंथों में 9 प्रकार की भक्ति को नवधा भक्ति (Navdha Bhakti) कहते हैं। नवधा भक्ति का संक्षिप्त कथन धर्मग्रंथों और शास्त्रों में दो युगों में किया गया है। प्रथम भगवान श्रीराम ने त्रेतायुग में माता शबरी को ‘नवधा भक्ति’ के बारे में कहा था। और दूसरा प्रह्लाद ने

Share
Read More »
Chanakya Niti chapter 2 in Hindi

Chanakya Niti chapter 2 in Hindi

चाणक्य नीति : दूसरा अध्याय | Chanakya Niti Chapter 2 In Hindi चाणक्य नीति के अध्याय 2 (Chanakya Niti chapter 2 in Hindi) में चाणक्य द्वारा कई विषयों को शामिल किया गया है, और इसका परिचय आम तौर पर अनुसरण किए जाने वाले ज्ञान और ज्ञानचक्षु के लिए स्वर निर्धारित करता है। इस अध्याय के छंद मार्ग दर्शन एवं संचालन

Share
Read More »
Vidyeshwar Samhita 21 Chapter To 25 Chapter

Vidyeshwar Samhita 21 Chapter To 25 Chapter

विद्येश्वर संहिता (Vidyeshwar Samhita 21 Chapter To 25 Chapter) के इक्कीसवां अध्याय से पच्चीसवां अध्याय में शिवलिंग की संख्या, शिव नैवेद्य और बिल्व माहात्म्य, शिव नाम की महिमा, भस्मधारण की महिमा और रुद्राक्ष माहात्म्य का वर्णन किया गया है। यहां एक क्लिक में पढ़ें ~ विद्येश्वर संहिता प्रथम अध्याय से दसवें अध्याय तक ॥ ॐ नमः शिवाय ॥ विद्येश्वर संहिता

Share
Read More »
Shri Surya Chalisa in Hindi

Shri Surya Chalisa in Hindi

Shri Surya Chalisa in Hindi | “श्री सूर्य चालीसा” सूर्य उपासना का शुभ और सरल उपाय “सूर्य चालीसा” (Shri Surya Chalisa in Hindi) हिंदू धर्म में भगवान सूर्य को समर्पित एक भक्ति भजन है। भक्तों द्वारा अपनी भक्ति व्यक्त करने और स्वास्थ्य, समृद्धि और आध्यात्मिक कल्याण के लिए भगवान सूर्य का आशीर्वाद लेने के लिए इसका पाठ किया जाता है।

Share
Read More »
Mahalakshmi Ashtakam Lyrics in English

Mahalakshmi Ashtakam Lyrics in English

Read the miraculous hymn of Mahalakshmi, an impressive worship composed by Indra himself. There are seven days of the week in the Hindu calendar, these seven days are dedicated to some deity or the other. Thus, Friday is dedicated to Mahalakshmi, and the tradition of worshiping Mahalakshmi on this day is mentioned in the scriptures. After worshiping Mahalakshmi duly, Mahalakshmi

Share
Read More »
Mahabharat Adi Parva Tritiya Adhyay

Mahabharat Adi Parva Tritiya Adhyay in Hindi

॥ श्रीहरिः ॥ श्रीगणेशाय नमः  ॥ श्रीवेदव्यासाय नमः ॥ श्रीमहाभारतम् आदिपर्व तृतीयोऽध्यायः ॥ पौष्यपर्व ॥ आदिपर्व के तृतीय अध्याय (Mahabharat Adi Parva Tritiya Adhyay) को पौष्यपर्व के नाम से भी जाना जाता है। इस अध्याय में जनमेजय को सरमाका शाप का वर्णन, जनमेजय द्वारा सोमश्रवा का पुरोहित के पदपर वरण, आरुणि, उपमन्यु, वेद और उत्तंककी गुरुभक्ति तथा उत्तंकका सर्पयज्ञके लिये

Share
Read More »
Raghuvansham Tritiya Sarg

Raghuvansh Mahakavya Tritiya Sarg in Hindi

रघुवंशम् महाकाव्य तृतीय सर्ग | Raghuvansham Tritiya Sarg “रघुवंशम महाकाव्य” (Raghuvansham Tritiya Sarg) महान भारतीय कवि कालिदास द्वारा लिखित एक प्रसिद्ध संस्कृत महाकाव्य है। यह महाकाव्य कालिदास की सबसे प्रसिद्ध कृतियों में से एक है, और इसमें उन्नीस सर्ग या “सर्ग” शामिल हैं। “रघुवंशम महाकाव्य” के तीसरे सर्ग में, सुलक्षणा के गर्भ के लक्षण और रघु के जन्म एवं महाराज

Share
Read More »
Chanakya Niti First Chapter

Chanakya Niti First Chapter in Hindi

चाणक्य नीति : प्रथम अध्याय | Chanakya Neeti : First Chapter In Hindi चाणक्य नीति का पहला अध्याय (Chanakya Niti First Chapter) एक परिचय के रूप में कार्य करता है और पूरे पाठ के लिए स्वर निर्धारित करता है। यह एक धर्मी और बुद्धिमान नेता के महत्व पर चर्चा करता है और कैसे एक शासक का चरित्र और कार्य किसी

Share
Read More »
Find Solutions Your Problems In Bhagavad gita

Finding Solutions For Your Problems In Bhagavad Gita

Finding Solutions For Your Problems In Bhagavad Gita The truth is that we can have a feeling of doubt in our mind, and can be suspicious of others too. We are in a dilemma about what to do and what not to do? This dilemma had arisen in Arjun’s mind. (Find Solutions Your Problems In Bhagavad gita) The sermon given

Share
Read More »
Ram Stuti

Shri Ram Stuti

श्री राम स्तुति: श्री राम चंद्र कृपालु भजमन | Ram Stuti Lyrics In Hindi श्री राम स्तुति (Ram Stuti) (श्री राम चंद्र कृपालु भजमन) १६वीं शताब्दी में गोस्वामी तुलसीदास द्वारा रचित भजन है। यह हरिगीतिका छंद में लिखा गया भजन भक्तिरस से पूर्णतः और साहित्यिक तौर पर भी अतुलनीय है। मनुष्य के मन को वश करनेवाली ये श्री राम स्तुति

Share
Read More »
Share
Share
Share